आदित्य

काशी के द्वादश आदित्य मंदिर

1- लोलार्कादित्य– लोलार्कादित्य का मंदिर तुलसी घाट के पास स्थित प्रसिद्ध लोलार्क कुण्ड के बगल में है। मंदिर तक पहुंचने के लिए मारवाड़ी सेवा संघ अस्सी से रिक्शा या पैदल भी कुछ ही समय में आराम से पहुंचा जा सकता है। यह मंदिर दर्शनार्थियों के लिए हमेशा खुला रहता है।

2- वृद्धादित्य – वृद्धादित्य का मंदिर डी 3/15 मीरघाट हनुमान मंदिर के बगल ही स्थित है। आम दर्शनार्थियों के लिए मंदिर का कपाट सुबह 6 बजे से रात साढ़े 9 बजे तक खुला रहता है।

3- विमलादित्य – विमलादित्य का मंदिर डी 35/273 जंगमबाड़ी इलाके के खारी कुआं के पीछे सकरी गली में स्थित है। इस मंदिर तक गोदौलिया चौराहे से अस्सी की तरफ बढ़ते हुए पहुंचा जा सकता है। इस मंदिर में दिन भर दर्शन पूजन किया जा सकता है।

4- उत्तरार्कादित्य – उत्तरार्कादित्य का मंदिर अलईपुर क्षे़त्र के बकरिया कुण्ड के पास स्थित है। मंदिर के पास ही वाराणसी सिटी रेलवे स्टेशन भी है। मंदिर पूजा पाठ के लिए सुबह पांच बजे से दोपहर 12 बजे तक और शाम पांच बजे से रात 10 बजे तक खुला रहता है। मंदिर में भगवान आदित्य की आरती प्रतिदिन सुबह आठ बजे होती है।

5- सांबादित्य– सांबादित्य का मंदिर डी 51/90 सूरजकुण्ड के पास स्थित है। यह मंदिर दर्शनार्थियों के लिए सुबह साढ़े 6 बजे से दोपहर एक बजे तक और शाम को सात बजे से रात नौ बजे तक खुला रहता है। मंदिर में माघ महीने के रविवार नवमी को काफी संख्या में दर्शनार्थी पहुंचते हैं।

6- मयूखादित्य– मयूखादित्य का मंदिर के 24/34 पंचगंगा घाट मंगलागौरी मंदिर के पास ही स्थित है। इस मंदिर तक काशी के कोतवाल बाबा कालभैरव से रिक्शा या पैदल कुछ ही मिनटों में पहुंचा जा सकता है। दर्शन पूजन के लिए यह मंदिर सुबह पांच बजे से दोपहर एक बजे तक और शाम तीन बजे से रात दस बजे तक खुला रहता है। इस दौरान मंदिर का घंटा घड़ियाल गूंजता रहता है।

7-  यमादित्य –  यमादित्य का मंदिर काशी में सीके 7/135 संकठा मंदिर के पास ही स्थित है। दर्शनार्थी इस मंदिर तक चौक क्षेत्र से रिक्शा से या पैदल ही चल कर कुछ ही देर में पहुंच सकते हैं। मंदिर में दर्शन पूजन दिन भर किसी भी समय किया जा सकता है।

8- खखोलखादित्य– खखोलखादित्य का मंदिर ए 2/9त्रिलोचन मंदिर के उत्तर कामेश्वर मंदिर मच्छोदरी के पास स्थित है। यह मंदिर सुबह पांच बजे से दोपहर 12 बजे तक और शाम को पांच बजे से रात दस बजे तक खुला रहता है। मंदिर में मंगला आरती प्रतिदिन सुबह पांच बजे और शाम की आरती साढ़े नौ बजे होती है।

9- केशवादित्य – केशवादित्य का मंदिर ए 37/51 राजघाट किले के आदि केशव मंदिर के पास स्थित है। मंदिर दर्शन पूजन के लिए सुबह छह बजे से दोपहर 12 बजे तक और शाम चार बजे से रात दस बजे तक खुला रहता है।

10- गंगादित्य – गंगादित्य का मंदिर 1/68 ललिता घाट स्थित नेपाली मंदिर के नीचे स्थित है। यह मंदिर दर्शनार्थियों के लिए हमेशा खुला रहता है।

11- दु्रपदादित्य – दु्रपदादित्य का मंदिर सीके 35/21 अक्षय वट वीश्वेश्वर मंदिर के पास स्थित है। दर्शनार्थी मंदिर तक बांसफाटक ज्ञानवापी होते हुए रिक्शे अथवा पैदल कुछ ही देर में पहुंच सकते हैं।

12- अरूणादित्य – अरूणादित्य का मंदिर ए 2/80 त्रिलोचन घाट के त्रिलोचन मंदिर के पास ही स्थित है। इस मंदिर तक बिरला अस्पताल मच्छोदरी होते हुए आराम से पहुंचा जा सकता है। मंदिर दर्शन पूजन के लिए सुबह साढे़ पांच बजे से दोपहर 12 बजे तक और शाम पांच बजे से रात11 बजे तक खुला रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *